Questions Hindi

1700 ई. में राजा राम की मृत्यु के बाद मराठों ने गुलामों के विरुद्ध युद्ध उसकी वीर पत्नी______ के नेतृत्व में जारी रखा। (SSC CPO 2010)

Answer :- ताराबाई

राजा राम की मृत्यु के बाद उसकी विधवा पत्नी ताराबाई ने अपने 4 वर्षीय पुत्र को शिवाजी द्वितीय के नाम से गद्दी पर बैठाया और मुगलों से स्वतंत्रता संघर्ष जारी रखा।


शिवाजी का राज्याभिषेक हुआ था  (SSC CGL 2014)

Answer :- 1674 ई.

14 जून 1674 ई. को शिवाजी ने काशी के प्रसिद्ध विद्वान गंगा भट्ट से अपना राज्यभिषेक रायगढ़ में करवाया तथा छत्रपति की उपाधि धारण की।


यूरोपीय शक्ति पहचानीए जिससे शिवाजी ने तोपे और गोला बारूद प्राप्त किए थे

Answer :- पुर्तगाल

मराठों ने तोपें और गोले पुर्तगालियों से प्राप्त किए थे।


किस संधि के द्वारा शिवाजी ने किला मुगलों को सौंप दिया था

Answer :- पुरंदर

आमेर के राजा जयसिंह ने पुरंदर के किले में शिवाजी की घेराबंदी कर शिवाजी को जून 1665 में पुरंदर की संधि करने के लिए बाध्य किया जिसके तहत शिवाजी ने 23 किलो मुगलों को सौंप दिये। शिवाजी के पुत्र संभा जी को मुगल सेवा में भेज दिया।


‘चौथ’ क्या था

Answer :- पड़ोसी राज्यों पर शिवाजी द्वारा लगाया गया भूमि पर

मराठा कराधान प्रणाली में दो सर्वाधिक महत्वपूर्ण कर-चौथ व सरदेशमुखी थे। चौथ पड़ोसी राज्यों पर शिवाजी द्वारा लगाया गया भूमि कर था | जबकि सरदेशमुखी एक अतिरिक्त कर था जो आय का 1/10 वां भाग होता था।


शिवाजी के प्रशासन में ‘पेशवा’ कहा जाता था

Answer :- मुख्यमंत्री को

शिवाजी के शासन का वास्तविक संचालन अष्टप्रधान नाम के आठ मंत्री करते थे पेशवा इनमें से एक था। वह अष्टप्रधानों में प्रधान होता था तथा राजा की अनुपस्थिति में उसके कार्यों की भी देखभाल करता था। कुछ प्रमुख पेशवा थे- बालाजी विश्वनाथ बाजीराव प्रथम ( बाजीराव मस्तानी), बालाजी बाजीराव आदि।


गुरिल्ला युद्ध की अवधारणा को लागू किया था

Answer :- शिवाजी

गुरिल्ला पद्धति के जनक के रूप में मलिक अंबर को श्रेय जाता है। लेकिन व्यवहार में इसे प्रयोग करने का श्रेय शिवाजी को जाता है जिन्होंने इस पद्धति को मुगलों के विरुद्ध बड़ी सफलता के साथ प्रयोग किया।


सबसे सशक्त पेशवा था

Answer :- बाजीराव प्रथम

सबसे सशक्त पेशवा बाजीराव प्रथम था। इसे 72 लड़ाइयों के विजेता के रूप में मान्यता प्राप्त है। इसे लड़ाकू पेशवा भी कहते हैं। एक मुस्लिम महिला मस्तानी से संबंध होने के कारण इसे बाजीराव मस्तानी भी कहा जाता है। बाजीराव प्रथम ने हिंदू पदशाही का आदर्श रखा था।


शिवाजी ने कितनी बार सूरत को लूटा |

Answer :- दो

सूरत को शिवाजी ने दो बार लूटा। पहली बार 1664 ई. तथा दूसरी बार 1670 ई. में लूटा ।


शिवाजी को किस वर्ष ‘छत्रपति’ का ताज मिला

Answer :- 1674

शिवाजी ने अपने राज्यभिषेक के वर्ष अर्थात 1664 ई. में छत्रपति की उपाधि ग्रहण की।


बाजीराव प्रथम किस वंश का शासक था

Answer :- पेशवा

बाजीराव प्रथम (1720-1740 ई.) पेशवा में से एक तथा सर्वाधिक योग्य पेशवा था इसे लड़ाकू पेशवा भी कहा जाता है।


छात्रपति शिवाजी महाराज किस वंश का शासक था

Answer :- मराठा

छात्रपति शिवाजी महाराज (1674-1680.ई.) मराठा वंश का शासक था।


बाजीराव द्वितीय किस वंश का शासक था

Answer :- पेशवा

बाजीराव द्वितीय ( 1796- 1818.ई.), पेशवाओं में से अंतिम था। इसने ही गवर्नर जनरल लार्ड वेलजली से वर्ष 1802 में बसीन में सहायक संधि स्वीकार की (बसीन की संधि) तथा इसी के काल में तृतीय आँग्ल-मराठा युद्ध लड़ा गया (1817- 1818 ई.) और बाजीराव का पूना प्रदेश अंग्रेजी राज्य में विलय कर दिया गया।


छत्रपति शिवाजी टर्मिनल का डिजाइन किसके द्वारा किया गया था

Answer :- फ्रेडेरिक विलियम स्टीवेंस

छत्रपति शिवाजी टर्मिनल को पूर्व में विक्टोरिया मुंबई टर्मिनल के नाम से जाना जाता था। उसका डिजाइन फ्रेडरिक विलियम स्टीवेंस व एेक्सल हेग ने तैयार किया था। इसे यूनेस्को की विश्व विरासत सूची में शामिल किया गया है।


छत्रपति संभाजी किस वंश का शासक था

Answer :- मराठा

संभाजी शिवाजी का पुत्र तथा मराठा वंश से संबंधित था। शिवाजी की मृत्यु के बाद उनका पुत्र राजाराम गद्दी पर बैठा। संभाजी( 1680- 1688 ई.), राजाराम को गद्दी से उतार कर 1680 को सिंहासनारूढ़ हुआ। उसने एक उत्तर भारतीय ब्राम्हण कवि कलश को प्रशासन का सर्वोच्च अधिकारी नियुक्त किया।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here